Farm bill के कारण BJP से अलग हुई ये पार्टी, अकेली लड़ेगी चुनाव

0

जयपुर। राजस्थान के कद्दावर नेता व आरएलपी पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने राज्य के गहलोत सरकार पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने गहलोत व वसुंधरा को जुगलबंदी करार दिया है और कहा कि ये दोनों नेताओं ने 22 सालों से राज्य को गर्त में पहुंचा दिया है।

Hanuman beniwal
Hanuman beniwal

ये दोनों नेताओं को राज्य की सत्ता को लेकर आपसी समझ है और इसी पर दोनों वर्षों से काम कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा की राज्य में तीन विधानसभा के उपचुनाव व नगर निकाय चुनाव आरएलपी अकेली दम पर लड़ेगी। उन्हों भाजपा पर भी निशाना साधते हुए कहा की भाजपा कृषि बिल को लेकर किसान को जिते जी मारने का काम कर रही है।

आपको बता दें की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी प्रदेश में होने वाले आगामी सभी नगर निकाय चुनावों तथा राजस्थान विधानसभा के होने वाले तीनों उपचुनाव लड़ेगी। यह ऐलान खुद हनुमान बेनीवाल ने किया है। जयपुर में प्रेस से बात करते हुए आरएलपी संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने कही। सांसद बेनीवाल ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में भी पिछड़ी हुई बस्तियों के विकास, शहरी क्षेत्रों को भ्रष्टाचार से मुक्त करने तथा विकास के मुद्दो को लेकर आरएलपी नगर निकायों के चुनाव लड़ेगी।

राजस्थान में वसुन्धरा-गहलोत के आपसी गठजोड़ से भ्रष्टाचार बढ़ा- बेनीवाल

उन्होंने राजस्थान के नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल के पूर्व के कार्यकाल में एकल पट्टा प्रकरण सहित मृत व्यक्ति को पट्टा जारी कर देने जैसे मामलों पर बोलते हुए कहा कि 22 साल से राजस्थान में वसुन्धरा-गहलोत के आपसी गठजोड़ से राजस्थान में भ्रष्टाचार संस्थागत रूप से बढ़ा है।

 

हनुमान बेनीवाल ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे पर आरोप लगाते हुए कहा कि जिस तरह उन्होंने अपने समर्थकों के जरिये संगठन की समानान्तर सूची निकाली है, उससे जाहिर हो रहा है कि राजे ने प्रत्यक्ष रूप से सीधा प्रधानमंत्री को चैलेन्ज किया है।

सांसद बेनीवाल ने कहा कि शाहजहांपुर बॉर्डर पर आरएलपी पार्टी का किसान आंदोलन के समर्थन में पड़ाव जारी है और यह लगातार जारी रहेगा। बेनीवाल ने कहा कि आरएलपी किसानो के इस आंदोलन में उनके साथ खड़ी है।

भ्रष्टाचार में डूबे ऐसे व्यक्तियों को दायित्व दे दिया-बेनीवाल

बेनीवाल ने राजस्थान लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष और राजस्थान अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड के अध्यक्ष पर भी आरोप लगाते हुए कहा कि भ्रष्टाचार में डूबे ऐसे व्यक्तियों को दायित्व दे दिया, जो लगातार बेरोजगारों के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने किसान कर्ज माफी तथा बेरोजगारी भत्ते के मुद्दे पर भी चुनाव पूर्व का वादा सरकार में आने के बाद कांग्रेस की सरकार ने नहीं निभाया।

ये भी पढ़ें-CM Gehlot ने नेहरु-मनमोहन की तारिफ के पूल बांधे, PM Modi का रहा ऐसा रिएक्शन

नागौर सांसद ने कहा की राजस्थान में अपराध चरम पर है और महिला अपराधों में भी राजस्थान को शर्मसार होना पड़ा। बेनीवाल ने कहा कि पहले जो राजस्थान 19वें नम्बर पर हुआ करता था, वह अब पहले नम्बर की तरफ़ बढ़ा है। बेनीवाल ने कहा कि बढ़ते अपराध तथा बिगड़ती कानून व्यवस्था और बेरोजगारी तथा मुफ्त बिजली, टोल मुक्त राजस्थान सहित जनहित के कई मुद्दो को लेकर भी राजस्थान सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.