Gehlot सरकार ने लिया ऐतिहासिक फैसला,कर्मचारियों के पदोन्नती का रास्ता साफ

0

जयपुर। गहलोत सरकार ने राज्य के 90000 कर्मचारियो के लिए बड़ा फैसला लेते हुए उनके पदोन्नती का रास्ता साफ कर दिया है। आज एक महत्वपुर्ण बैठक में सीएम गहलोत ने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए की 2013 में भर्ती किए गए सभी कर्मचारियों को पदोन्नत किया जाए। सरकार के इस फैसले से राज्य के कर्मचारियों में खुशी की लहर है और वे गहलोत सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। सीएम गहलोत के इस फैसले से सरकार पर करोंड़ो रुपए का अतिरिक्त वित्तीय भार बढ़ेगा।

Ashok Gehlot
Ashok Gehlot

आपको बता दें की राज्य सरकार ने प्रदेश की विभिन्न ग्राम पंचायतों में कनिष्ठ लिपिक के पदों पर कार्यरत लगभग 9000 कार्मिकों को पदोन्नति का तोहफा देने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इसके लिए संबंधित विभाग को वर्ष 2013 में भर्ती हुए कनिष्ठ लिपिकों के संवर्ग के लिए वरिष्ठता निर्धारित करने और पदोन्नति प्रक्रिया शुरू करने के प्रस्ताव को स्वीकृति दी है।

लगभग 9000 मंत्रायलिक कार्मिकों को पदोन्नति का अवसर मिल सकेगा

गहलोत ने पंचायती राज विभाग अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कनिष्ठ लिपिक संवर्ग में बीते 7 वर्षों से लम्बित पदोन्नति प्रक्रिया को जल्द से जल्द शुरू किया जाए। इससे पंचायती राज विभाग में नवसृजित पदों पर नियुक्त हुए लगभग 9000 मंत्रायलिक कार्मिकों को पदोन्नति का अवसर मिल सकेगा और यह पंचायती राज संस्थाओं के सशक्तीकरण की दिशा में बड़ा कदम होगा।

ये भी पढ़ें-Sachin Pilot ने किसान महापंचायत में हुंकार भरी, सरकार को चेताया

गौरतलब है कि वर्ष 2013 में नवसृजित पदों पर भर्ती किए गए ग्राम पंचायत के कनिष्ठ लिपिकों के संवर्ग के लिए वरिष्ठता निर्धारित करने के लिए कोई प्रावधान नहीं किया गया था। कर्मचारी संगठन काफी समय से पदोन्नति प्रक्रिया में इस विसंगति को दूर करने की मांग कर रहे थे। अब मुख्यमंत्री गहलोत ने इन कार्मिकों को पदोन्नति का लाभ देने के लिए संवेदनशील निर्णय लिया है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.