Rajasthan के BJP सांसद ने कहा, किसान आंदोलन में आतंकी एके-47 लेकर बैठे हैं

0

नई दिल्ली।  भाजपा नेताओं और सांसदों के बिगड़े बोल से किसानों के मन में भाजपा की केंद्र सरकार के प्रति और अविश्वास और शंका पैदा कर रही है। किसानों को लग रहा है कि सरकार हमारी मांगो को लेकर गंभीर नहीं है और हमारी हक की आवाज को तवज्जों नहीं दे रही है।

farmer
Indian Farmer Plowing in cotton field

इसी कारण उनके नेता और सांसद हमलोगों पर उल-जुलुल बयान दे रहे हैं। कोई खालिस्तानी बोल रहा है तो कोई बोल रहा है कि किसान धरना पर गोली-बंदूक और हम लेकर बैठे है। भाजपा के कई नेता ने आंदोलनरत किसानों कांग्रेस के दलाल तक की संज्ञा दी है।

ये भी पढ़ें-Farm bill के समर्थन नें आया ये किसान संगठन, कही ऐसी बात

आपको बता दें की कृषि कानून को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन जारी है। इस बीच भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के द्वारा लगातार किसानों पर तीखी टिप्पणी करना जारी है। राजस्थान के दौसा से भारतीय जनता पार्टी की सांसद जसकौर मीणा ने एक बार फिर धरने पर बैठे किसानों की तुलना खालिस्तानियों से की है। किसान आंदोलन को लेकर बीजेपी सांसद जसकौर मीणा ने कहा कि प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी युगपुरूष हैं, जो देश को बदलना चाहते हैं और कृषि कानून इसी ओर का एक कदम है।

किसान आंदोलन में आतंकी एके-47 लेकर बैठे हैं- मीणा

किसान आंदोलन को लेकर जसकौर मीणा बोली कि किसान आंदोलन में आतंकी एके-47 लेकर बैठे हैं जो वहां बैठे है वो खालिस्तानी हैं। आपको बता दें कि इससे पहले भी कई भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के द्वारा किसानों के आंदोलन पर सवाल खड़े किए जा चुके हैं। जिसको लेकर किसान संगठनों ने नाराजगी व्यक्त की और केंद्र सरकार के साथ होने वाली बातचीत में भी इस मसले को उठाया था।

ये भी पढ़ें-Farm bill के कारण BJP से अलग हुई ये पार्टी, अकेली लड़ेगी चुनाव

बीजेपी सांसद का बयान उस दिन आया है जब केंद्र के तमाम दिग्गज नेता व मंत्री किसानों को मनाने व वार्ता करने के लिए आज उनकों दिल्ली बुला रहे हैं। वहीं भाजपा सांसद का आपत्तिजनक बयान वार्ता के गंभीरता को ठेस पहुंचाता है और किसानों के मन में शक पैदा करता है। आज भाजापा नेता किसानों के द्वार 26 जनवरी को प्रस्तवित ट्रैक्टर रैली को स्थगित करने को लेकर वार्ता करने वाले है और किसानों से धरना को समाप्त करने को लेकर भी आग्रह करेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.