Gehlot सरकार ने किसानों के लिए लिया बड़ा फैसला, राजस्थान में खेती करना अब होगा आसान

0

जयपुर। राजस्थान की गहलोत सरकार ने किसानों पर दरियादिली दिखाते हुए खेत के पटवन के लिए दिन में भी बिजली मुहैया करने का प्लान बना रही है। सरकार इस योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए इसकी तैयारी भी कर ली है।

rajasthan bijli vibhag
rajasthan bijli vibhag

किसानों को बिजली मुहैया कराने के लिए सरकार ने पूरे राजस्थान को सात भाग में बांटा है, इन सातों भागों में किसानों के लिए अलग-अलग फीडर बनाए जाएंगे जो किसानों को दिन में निर्बाध बिजली मुहैया कराएगी। इन सभी कार्यों को सुचारू रुप से क्रियान्वित करने के लिए सरकार ने अलग से प्राभारी नियुक्त किए है जो रेगुलर तौर पर विधि-व्यवस्था को मॅानिटरिंग व फिडबैक लेगें।

ये भी पढ़ें-राजस्थान के रोड़ पर दिखीं Kriti Sanon, बाइक का इस तरह ले रही थी मजा

आपको बता दें की राजस्थान के किसानों को दिन में बिजली मुहैया करवाने की तैयारी में गहलोत सरकार है। इसके लिए अलग से फीडर विकसित किया जा रहा है। जयपुर, अजमेर और जोधपुर डिस्कॉम जिलेवार इस काम को आगे बढ़ा रही है।

डिस्कॉम चेयरमैन ने सातों संभागों के आधार पर प्रभारी अधिकारियों की नियुक्ति की है

अलग से फीडर विकसित करने में आ रही परेशानियों को देखते हुए डिस्कॉम चेयरमैन ने सातों संभागों के आधार पर प्रभारी अधिकारियों की नियुक्ति की है। यह अधिकारी प्रसारण निगम और डिस्कॉम में समन्वय स्थापित कर, काम की गति बढ़ाएंगे। इनकी प्रत्येक महीने में एक मीटिंग अवश्य होगी।

मुख्य बिंदु

सर्दी में नहीं ठिठुरेगा किसान
किसानों को दिन के समय बिजली देने के लिए बड़ा कदम
2 ब्लॉक की सप्लाई तंत्र के लिए सातों सम्भाग में अधिकारी नियुक्त
सभी 33 जिलों में 2 ब्लॉक्स में सप्लाई के लिए ज़िम्मेदार तय
ऑपरेशन और टेक्निकल इंचार्ज से RVPNL और डिस्कॉम में होगा समन्वय
महीने में एक बार कॉर्डिनेशन के लिए बैठक जरुरी
तय लक्ष्य पर काम नहीं किया तो जवाबदेही होगी तय
इन जिलों में किसानों को दिन में मिलेगी बिजली

ऊर्जा कनेक्शन भी अधिक संख्या में किसानों को उपलब्ध करवाने का प्लान बनाया जा रहा है

राजस्थान में ऊर्जा महकमा तीनों बिजली कंपनियों जयपुर, अजमेर और जोधपुर डिस्कॉम के जरिए अलग से एग्रीकल्चर फीडर विकसित करने जा रहा है। 16 जिलों में दिन में 2 ब्लॉक में इस सीजन में बिजली मिलेगी। कोटा, बूंदी, झालावाड़, धौलपुर, पाली, सिरोही, जालौर, जैसलमेर, अजमेर, प्रतापगढ़, उदयपुर, भीलवाड़ा, राजसमन्द, बांसवाड़ा, डूंगरपुर और चित्तौड़ जिले के किसानों को दिन में बिजली देने की तैयारी है। वहीं, आने वाले दिनों में सौर ऊर्जा कनेक्शन भी अधिक संख्या में किसानों को उपलब्ध करवाने का प्लान बनाया जा रहा है।

 

बजट घोषणा के अनुरूप 13 जिलों में बिजली दी जाने लगी है, तीन अन्य में भी प्रक्रिया चालु है। आने वाले दिनों में पूरे प्रदेश के किसानों को लाभ दिया जाएगा। जल्द ही पूरे प्रदेश में एग्रीकल्चर फीडर विकसित कर स्थायी तौर पर दिन में बिजलीमुहैया करवाने के प्रयास होंगे। इस काम में प्रसारण निगम और डिस्कॉम में कॉर्डिनेशन नहीं हो रहा था, जिसके बाद डिस्कॉम चेयरमैन दिनेश कुमार ने 33 जिलों में संभागवार प्रभारी अधिकारी नियुक्त किए हैं।

ये भी पढ़ें-BJP के इस कद्दावकर नेता के बिगड़े बोल, Sonia Gandhi के लिए कही ऐसी बात

निदेशक स्तर के अधिकारियों को जिलेवार जिम्मेदारी दी गई है। साथ ही तय समय में किसानों के लिए अलग से फीडर विकसित करने के निर्देश भी दिए गए है। माना यह जा रहा है कि डिस्कॉम्स चेयरमैन के इस कदम से कामकाज में तेजी आएगी। सर्दी के सीजन में किसान को ठिठुरन भी कम होगी, साथ ही रात के समय होने वाले आकस्मिक हादसों में भी कमी आएगी।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.