CM Gehlot ने नेहरु-मनमोहन की तारिफ के पूल बांधे, PM Modi का रहा ऐसा रिएक्शन

0

जयपुर। राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ एक मंच पर दिखें जिसमें उन्होंने पीएम मोदी के सामने राज्य में बंद पड़ी विभिन्न योजनाओं को चालु कराने की मांग रखी। गहलोत ने अपने लगभग दस मिनट के संबोधन के दौरान पंड़ित नेहरु व मनमोहन सिंह के कार्यकाल के दौरान रेलवे में हुए विकासात्मक कार्यो का बखान की।

CM Ashok gehlot congress
CM Ashok gehlot congress

आगे उन्होंने कहा की राज्य में सीपी जोशी ने जो भी रेलवे की परियोंजना राजस्थान को दी थी उसपर अब कोई काम नहीं हो रहा है, केंद्र सरकार को इस पर संज्ञान लेना चाहिए है और जल्द से जल्द इस योजना को चालू करने की दिशा में पहल करनी चाहिए। उन्होंन कहा की बांसवाड़ा-डुंगरपुर-रतलाम प्रजोक्ट पर राज्य सरकार ने 250 करोड़ रुपए खर्च कर चुकी है, केन्द्र से आग्रह है कि वे इस परियोजना पर राशि आवंटन कर पूरी कराएं।

राजस्थान में बंद पड़े विभिन्न रेलवे प्रोजेक्ट को फिर से शुरू करने की मांग की-गहलोत

आपको बता दें की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राजस्थान में बंद पड़े विभिन्न रेलवे प्रोजेक्ट को फिर से शुरू करने की मांग की है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आमने-सामने थे। मौका था वेस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के 306 किलोमीटर लंबे न्यू रेवाड़ी से न्यू मंदार खंड के लोकार्पण और न्यू अटेली से न्यू किशनगढ़ कंटेनर 10 के फ्लैग ऑफ कार्यक्रम का।

ये भी पढ़ें-Gehlot सरकार ने किसानों के लिए लिया बड़ा फैसला, राजस्थान में खेती करना अब होगा आसान

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को नववर्ष की बधाई देते हुए कहा कि देश में रेलवे के विकास में नेहरू की दूरदृष्टि बड़ी वजह रही।वेस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कोरीडोर के 306 किमी लम्बे न्यू रेवाडी से न्यू मदार खंड के लोकार्पण तथा न्यू अटेली से न्यू किशनगढ़ कन्टेनर ट्रेन के फ्लैग ऑफ कार्यक्रम में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एक मंच पर दिखे। वीसी के माध्यम से हुए इस कार्यक्रम में सीएम गहलोत ने पीएम मोदी के सामने राजस्थान के बंद पड़े विभिन्न रेलवे प्रोजेक्ट्स को फिर से शुरु करने की मांग की।

मुख्य बिंदु

वेस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कोरीडोर के खंड का लोकार्पण
306 किमी लम्बे (न्यू रेवाडी से न्यू मदार) खंड का लोकार्पण
न्यू अटेली से न्यू किशनगढ़ कन्टेनर ट्रेन का फ्लैग ऑफ कार्यक्रम
पीएम मोदी ने वीसी के माध्यम से किया आज लोकार्पण
सीएम गहलोत CMR से वीसी के माध्यम से जुड़े
राजस्थान के बंद पड़े रेलवे प्रोजेक्ट्स को शुरू करने की मांग उठाई गहलोत ने
पीएम के समक्ष 10 मिनट का संबोधन दिया सीएम गहलोत ने
सरमथुरा-करौली प्रोजेक्ट की मांग उठाई
पुष्कर से मेड़ता प्रोजेक्ट को फिर शुरु करने की मांग
चौथ का बरवाड़ा से अजमेर प्रोजेक्ट शुरू करने की मांग
बांसवाड़ा डूंगरपुर रतलाम प्रोजेक्ट को पूरा करने की मांग
भीलवाड़ा में मेमू कोच फैक्ट्री का मामला उठाया
बंद पड़े प्रोजेक्ट शुरू कराने की मांग की

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मोदी को नववर्ष की बधाई देते हुए कहा कि आज का दिन सभी के लिए बधाई वाला है। इसके बाद गहलोत ने नेहरू, यूपीए सरकार व मनमोहन सिंह के कार्यकाल का जिक्र करते हुए कहा कि नेहरु की दूरदृष्टि के कारण ही देश में बड़े बांध बने और कल कारखाने लगे।

 

रेलवे पर भी नेहरू ने ही सबसे पहले ध्यान दिया। इस मौके पर गहलोत ने कहा कि राजस्थान में रेलवे के कई प्रोजेक्ट शुरू हुए थे। कुछ चालू भी हो गए थे, लेकिन बाद में किन्हीं कारणो से बंद कर दिए गए। गहलोत ने पीएम मोदी से अपील की है कि ये प्रोजेक्ट फिर से शुरू कराए जाए।

इन समस्याओं पर पीएमओ का खींचा ध्यान

मुख्यमंत्री ने पीएम के राज्य की विभिन्न समस्याओं को रखते हुए समाधान का आग्रह किया। सीएम ने आदिवासी इलाके में रेलवे प्रोजेक्ट को लेकर कहा कि बांसवाड़ा डूंगरपुर रतलाम प्रोजेक्ट को जल्द पूरा किया जाए। इसमें 250 करोड़ राज्य सरकार दे चुकी है। इसके बाद वहां पर काम बंद हो गया।

 

पहले हमने 50 फीसदी हिस्सेदारी का वादा किया था लेकिन अब हम वह वादा नहीं निभा पाएंगे। अब रेलवे को ही पूरा खर्चा करना पड़ेगा। सीएम ने भीलवाड़ा में मेमू कोच फैक्ट्री का मामला उठाते हुए कहा सीपी जोशी के समय इसका लोकार्पण हुआ था। लेकिन अब उस काम को रोक दिया गया है। उस काम को भी फिर से शुरू किया जाए।

ये भी पढ़ें-Rajasthan में कांग्रेस के लिए बुरी खबर, भाजपा चल रही ऐसी चाल

सीएम ने जैसलमेर-बाड़मेर को कांडला से जोड़ने के लिए रेलवे प्रोजेक्ट की भी मांग की। उन्होंने लोहारू-सीकर मार्ग पर रेल चलाने की मांग करते हुए कहा कि सरकार किसी भी पार्टी की हो लेकिन रेलवे के विकास को प्राथमिकता मिलनी चाहिए। 9:30 मिनट के मुख्यमंत्री के संबोधन के खत्म होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ताली बजाकर उनका स्वागत किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.